Tue. Jun 22nd, 2021
Chandra Grahan 26 may 2021 Timing in india hindi, Chandra Grahan 26 may 2021 Sutak time, Grahan 2021 in India Date and Time in Hindi, Chandra grahan 2021 time tamil,

ग्रहण को लेकर लोगों के मन में उत्सुकता है। हर कोई इस खगोलीय घटना को देखना चाहता है। चंद्र ग्रहण दोपहर 2.18 बजे शुरू होगा और शाम 7.19 बजे खत्म होगा। Chandra Grahan 26 may 2021 Timing in india hindi, Chandra Grahan 26 may 2021 Sutak time, Grahan 2021 in India Date and Time in Hindi, Chandra grahan 2021 time tamil, भारत समेत दुनिया के तमाम देशों में भी ग्रहण को लेकर अलग-अलग मान्यताएं प्रचलित हैं। भारत में चंद्र ग्रहण को अशुभ माना जाता है। इसलिए इस दौरान कई काम वर्जित हैं। 26 मई को साल 2021 का पहला चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है. जानिए कैसा दिखता है ग्रहण…

Chandra Grahan 26 may 2021 Timing

चंद्र ग्रहण दोपहर 2.18 बजे शुरू होगा और शाम 7.19 बजे खत्म होगा। यह ग्रहण वृश्चिक राशि और अनुराधा नक्षत्र में होगा। ग्रहण की कुल अवधि 5 घंटे की होगी।

भारत सहित यह ग्रहण दक्षिण पूर्व एशिया, ऑस्ट्रेलिया, ओशिनिया, अलास्का, कनाडा और दक्षिण अमेरिका के कई हिस्सों में देखा जा सकता है। भारत में लगने वाले चंद्र ग्रहण के कारण इसका सूतक काल मान्य नहीं होगा। (Chandra Grahan 26 may 2021 Timing in india hindi)

चंद्र ग्रहण हमेशा पूर्णिमा के दिन ही होता है। लेकिन हर पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण नहीं होता है। ऐसा कुछ खास परिस्थितियों में ही होता है। खगोलविदों के अनुसार चंद्र ग्रहण एक साधारण घटना है क्योंकि सौरमंडल के सभी ग्रह सूर्य की परिक्रमा करते हैं और उपग्रह अपने ग्रह की परिक्रमा करते हैं। (Chandra Grahan 26 may 2021 Timing in india hindi)

26 May 2021 Chandra Grahan Time In India, Chandra Grahan Sutak Time Today, Lunar Eclipse 26 May

Read Also – Gautam buddha jayanti 2021 images download – 26 May Buddha Purnima

जब पृथ्वी सूर्य के चारों ओर घूमती है और चंद्रमा पृथ्वी के चारों ओर घूमता है, तो सूर्य, पृथ्वी और चंद्रमा एक सीधी रेखा में आ जाते हैं, जिससे पृथ्वी की छाया चंद्रमा पर पड़ती है। तब इस स्थिति में चंद्र ग्रहण होता है।

चंद्र ग्रहण तीन प्रकार के होते हैं: खगोलविदों के अनुसार चंद्र ग्रहण तीन प्रकार के होते हैं जो इस प्रकार हैं…

पूर्ण चंद्र ग्रहण –जब सूर्य, पृथ्वी और चंद्रमा एक सीधी रेखा में आ जाते हैं और पृथ्वी की छाया चंद्रमा को पूरी तरह से ढक लेती है, तब पूर्ण चंद्र ग्रहण का दृश्य दिखाई देता है। इस दौरान चंद्रमा पूरी तरह से लाल दिखाई देता है। जिसे सुपर ब्लड मून कहा जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *